हिंदी से संस्कृत में अनुवाद कैसे करें? Hindi se Sanskrit Mein anuvad karen

हिंदी से संस्कृत में अनुवाद कैसे करें? Hindi se Sanskrit Mein anuvad karenCategory: Educationहिंदी से संस्कृत में अनुवाद कैसे करें? Hindi se Sanskrit Mein anuvad karen
Balbodi Ramtoriya asked 3 years ago
हिंदी से संस्कृत में अनुवाद, हिन्दी टू संस्कृत सेंटेंस ट्रांसलेशन कैसे करें? Hindi se Sanskrit Mein anuvad करने का तरीका बताएँ, कैसे Hindi से संस्कृत में कन्वर्ट करें" ? Hindi to Sanskrit ट्रांसलेट, Sanskrit Mein anuvad करने का तरीका क्या है?
1 Answers
Bhavna answered 3 years ago

दोस्तों इस क्वेश्चन का आंसर हम आपको देने वाले हैं जिसका टॉपिक हिन्दी से संस्कृत में अनुवाद कैसे करें? तो चलिए जानते हैं। हम इस क्वेश्चन के आंसर में कुछ संस्कृत के हिन्दी अनुवाद आपके साथ साझा कर रहे हैं जिनको आप देख सकते हैं कि कौन से संस्कृत वर्ड का हिन्दी में क्या अर्थ होता है?

जैसे कि उदाहरण के तौर पर हम समझते हैं।

मैं जाता हूँ=अहम् गच्छामि> अहम्= क्या है? अहम् का अर्थ है–मैं एकवचन। मैं अर्थात् जैसे कि कर्ता, कर्ता वह होता है जो किसी काम (Work) को करता है, मैं, वह, तुम, हम सब। राम, योगेश, प्रिया यह सभी किसी काम को करते है, जैसे कि सर्वनाम कहते है।

अहम्= उत्तम पुरुष, मि-उत्तम पुरुष–एकवचन–परस्मैपद वर्तमान काल, गच्छ-धातु गच्छ–जाना। एक क्रिया है-क्रिया उसे कहते है जिस काम को किया जाता है, उसे क्रिया कहते है जैसे उदाहरण के तौर पर जानते हैं। जाना, खाना, पीना, दौड़ना, खेलना ये सभी क्रियाएँ है।

अब आप देखिये–अहम्-क्या है? कर्ता, गच्छ–क्या है? क्रिया। जब हम Hindi से Sanskirt में अनुवाद करते है, तब कर्ता और क्रिया दोनों ही-एक ही वचन तथा एक ही काल, एक ही पुरुष, एक ही पद का होना चाहिये। जैसे उदाहरण के तौर पर जानते हैं। यदि कर्ता एक वचन है तो पुरुष भी एक वचन और क्रिया भी एक ही वचन की होगी। इस प्रकार अहम् गच्छामि, दोनों एक वचन है, एक ही पुरुष है उत्तम पुरुष।

हिन्दी से संस्कृत में मिले जुले वाक्यों का प्रयोग

अब हम मिश्रित मिले जुले वाक्यों का प्रयोग करेगें। कुछ शब्दार्थ। जैसे–यदा = जब, तदा = तब, तत्र = वहाँ, यथा = जैसे, तथा = वैसे, अपि = भी, च = और किम् = क्या। अब हम कुछ वाक्यों का प्रयोग जानते हैं जो संस्कृत से हिन्दी में अनुवाद उसका अर्थ क्या होता है चलिए कुछ वाक्यों का प्रयोग को जानते हैं।

वाक्यों का प्रयोग-

1-यदा बालक; पठति, तदा सः लिखति=जब बालक पढ़ता है-तब वह लिखता है।
2-आवाम् अपि तत्र गच्छावः=हम दोनों भी वहाँ जाते है।
3-वयम् अपि सदा प्रातः भ्रमामः=हम सब भी हमेशा प्रातःकाल घुमते है।
4-जनाः यथा आगच्छन्ति, ते तथा गच्छन्ति= लोग जैसे आते है, वे वैसे जाते है।
5-किम् त्वम् पठसि लिखसि वा=क्या तुम पढ़ते अथवा लिखते हो?
6-युयम् कुत्र गच्छथ? =तुम सब कहाँ जाते हो?
7-वयम् अपि तत्र गच्छामः =हम सब भी वहाँ जाते है।
8-अहम् यदा क्रिड़ामि तदा न पठामि =मैं जब खेलता हूँ तब नहीं पढ़ता हूँ।
9-छात्राः पठन्ति धावन्ति च =छात्र पढ़ते और दौड़ते है।

संस्कृत से इंग्लिश टैक्स में

दोस्तों संस्कृत से हिन्दी में अनुवाद के कुछ वाक्य हम नीचे दे रहे हैं जो इंग्लिश टैक्स में लिखी गए हैं उनके अर्थ को भी आप जान सकते हैं

1-हिन्दी से संस्कृत में अनुवाद (Hindi to sanskrit translation) 2-कर्ता एवं कर्म कारक का प्रयोग (Nominative Case & Instrument Case) 3-करण कारक एवं सम्प्रदान का प्रयोग (Ablative Case & Possessive Case) 4-अपादान एवं सम्बन्ध कारक का प्रयोग (Objective Case & Dating Case) 5-अधिकरण एवं सम्बोधन का प्रयोग (Locative Case & Vocative Case) 6-अमरकोषः (Paryayvachi Shabd) 7-अव्यय शब्द (Indeclinable) 8-लकार का प्रयोग (Verb Form) 9-नपुंसकलिंग (Neuter Gender) आदि शब्दों को आप संस्कृत के इंग्लिश से फोंट में हिन्दी अर्थ समझ सकते हैं

यदि आप संस्कृत टू हिन्दी ट्रांसलेट कैसे करते हैं इसके बारे में जानना चाहते हैं तो आप Hindi to sanskrit translation kaise kare? संस्कृत सीखने के लिए, संस्कृत टू हिन्दी इसको पढ़ सकते हैं साथ में संस्कृत के बारे में और अधिक विस्तार से जानना चाहते हैं इसका इतिहास और उत्पत्ति संस्कृत का सही अर्थ होता है

Your Answer
18 + 7 =